Sonia Gandhi Congress Leader । Mallikarjun Kharge Writes । PM Narendra Modi । Covid-19 । Offers 6 Suggestions | सोनिया के बाद अब खड़गे ने मांगा 35 हजार करोड़ का हिसाब, पत्र लिखकर बोले- प्रवासी मजदूरों से बंटवाइए राहत सामग्री

  • Hindi News
  • National
  • Sonia Gandhi Congress Leader । Mallikarjun Kharge Writes । PM Narendra Modi । Covid 19 । Offers 6 Suggestions

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

नई दिल्ली5 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक
मल्लिकार्जुन खड़गे ने पत्र में लिखा है कि सरकार को प्रवासी मजदूरों को राहत देने की कोशिश करनी चाहिए। - Dainik Bhaskar

मल्लिकार्जुन खड़गे ने पत्र में लिखा है कि सरकार को प्रवासी मजदूरों को राहत देने की कोशिश करनी चाहिए।

कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी के बाद अब पार्टी के वरिष्ठ नेता मल्लिकार्जुन खड़गे ने कोरोना से निपटने की सरकारी रणनीति पर सवाल उठाया है। राज्यसभा में विपक्ष के नेता खड़गे ने रविवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी एक पत्र लिखा। पत्र में उन्होंने वैक्सीनेशन के लिए अलॉट किए गए 35 हजार करोड़ रुपए के बजट का भी जिक्र किया।

उन्होंने आगे कहा कि सरकार को उस पैसे को खर्च करना चाहिए और ये निश्तिच करना चाहिए की देश के हर व्यक्ति का वैक्सीनेशन हो सके। उन्होंने कहा कि विदेशों से आ रही राहत सामग्री को बंटवाने के लिए प्रवासी मजदूरों की मदद ली जानी चाहिए। ये काम मनरेगा के तहत करवाया जाए। हाल ही के दिनों में कांग्रेस नेता राहुल गांधी और पार्टी की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी के बाद प्रधानमंत्री मोदी को पत्र लिखने वाले खड़गे तीसरे कांग्रेस नेता हैं।

मोदी सरकार को दीं ये 6 सलाह

  1. वैक्सीन बनाने वाली कंपनियों को कंपलसरी लाइसेंस दिए जाने चाहिए।
  2. मेडिकल से जुड़े जरूरी सामानों पर टैक्स में छूट मिलनी चाहिए।
  3. वैक्सीन पर 5%, PPE किट पर 5 से 12%, एंबुलेंस पर 28% और ऑक्सीजन कंसंट्रेटर पर 12% छूट मिले।
  4. प्रवासी मजदूरों को मनरेगा के तहत 100 की जगह 200 दिन का रोजगार मिले।
  5. केंद्र सरकार को तुरंत सभी पार्टियों की मीटिंग बुलानी चाहिए।
  6. महामारी से लड़ने के लिए सबकी सहमति से एक ब्लूप्रिंट तैयार हो सके।

कर्तव्य भूली केंद्र सरकार
खड़गे ने लिखा है कि ये सब की सहमति को ध्यान में रखते हुए सामूहिक निर्णय लेने का समय है। सिटीजन ग्रुप और सिविल सोसायटी के लोग कोरोना से लंबी लड़ाई लड़ रहे हैं। ऐसा इसलिए हो रहा है क्योंकि केंद्र सरकार अपने कर्तव्यों का पालन करती नहीं दिख रही है। आम भारतीय आज इस स्थिति में पहुंच चुका है कि उसे अपनों का इलाज करने के लिए जमीन, गहनें बेचने पड़ रहे हैं। लोगों को अपनी जमापूंजी खर्च करनी पड़ रही है।

सोनिया ने कहा था- सिस्टम नहीं, मोदी सरकार फेल
कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी ने 7 मई को पत्र लिखकर मोदी सरकार पर निशाना साधा था। उन्होंने कहा था कि महामारी के दौर में सिस्टम नहीं बल्कि मोदी सरकार फेल हुई है। केंद्र सरकार रिसोर्स का सही तरह से उपयोग नहीं कर पा रही है। सोनिया ने कहा था कि पूरे देश में फ्री वैक्सीनेशन के लिए संसद से 35 हजार करोड़ रुपए का बजट जारी हुआ था। इसके बाद भी मोदी सरकार पहले से परेशान राज्य सरकारों पर बोझ डाल रही है। उन्होंने कांग्रेस पार्लियामेंट्री पार्टी की बैठक में ये बातें कहीं।

हजारों की मौत, लाखों दर-दर भटक रहे
सोनिया गांधी ने कहा था कि भारत इस समय हेल्थ क्राइसिस से गुजर रहा है। हजारों लोगों की मौत हो चुकी है और लाखों लोग अस्पताल, ऑक्सीजन, वैक्सीन और जीवनरक्षक दवाओं के लिए परेशान हो रहे हैं। हालात, दिल तोड़ने वाले हैं। लोग अस्पताल, अपनी गाड़ियों और सड़क में तक जिंदगी के लिए जद्दोजहद कर रहे हैं। मोदी सरकार को संक्रमण से मरते लोगों की फिक्र नहीं है। ऐसे समय लोगों के प्रति सरकार की जिम्मेदारी और ज्यादा बढ़ जाती है।

खबरें और भी हैं…

Source link

thenewhind
Author: thenewhind

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *