Delhi government did nothing to create and distribute buffer stock of oxygen | दिल्ली सरकार ने ऑक्सीजन का बफर स्टाॅक बनाने और वितरण के लिए कुछ नहीं किया

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

नई दिल्ली4 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक
हाईकाेर्ट ने कहा- सुप्रीम काेर्ट के 30 अप्रैल के आदेश काे लागू करने में केंद्र और राज्य दाेनाें सरकारें नाकाम रही हैं। - Dainik Bhaskar

हाईकाेर्ट ने कहा- सुप्रीम काेर्ट के 30 अप्रैल के आदेश काे लागू करने में केंद्र और राज्य दाेनाें सरकारें नाकाम रही हैं।

  • इलाहाबाद हाईकाेर्ट ने कहा- ऑक्सीजन की कमी से हाे रही माैतें नरसंहार से कम नहीं

दिल्ली हाईकाेर्ट ने बुधवार काे ऑक्सीजन की किल्लत काे लेकर दिल्ली सरकार के खिलाफ सख्त टिप्पणी की। जस्टिस विपिन सांघी और रेखा पल्ली की बेंच ने बुधवार काे कहा कि ऐसा लगता कि सरकार ने मेडिकल ऑक्सीजन के बफर स्टाॅक और वितरण के लिए काेई काम ही नहीं किया। बेंच ने कहा कि ऑक्सीजन और ऑक्सीजन सिलेंडर का भंडारण, वितरण दिल्ली सरकार की जिम्मेदारी है।

अदालत ने यह भी कहा कि दिल्ली सरकार काे उक्त काम का ब्ल्यू प्रिंट बनाने के लिए दिल्ली टेक्नाेलाॅजी यूनिवर्सिटी की मदद लेनी चाहिए। हाईकाेर्ट ने कहा कि ऑक्सीजन का बफर स्टाॅक बनाने के सुप्रीम काेर्ट के 30 अप्रैल के आदेश काे लागू करने में केंद्र और राज्य दाेनाें सरकारें नाकाम रही हैं।

वहीं वकील आदित्य प्रसाद ने कहा कि बफर स्टाॅक के लिए ऑक्सीजन माैजूद है और इसके लिए भंडार केंद्र द्वारा बनाया जा सकता है। इसमें सेना की मदद भी ली जा सकती है। हाईकाेर्ट ने इस पर दिल्ली सरकार काे विचार करने का निर्देश दिया। साथ ही दिल्ली सरकार से 7 मई तक रिपाेर्ट दाखिल करने काे कहा।

तमिलनाडु : ऑक्सीजन की कमी से 13 मरीजाें की माैत, कर्नाटक के हुबली में 5 की मौत

तमिलनाडु में चेन्नई के पास चेंगलपट्टू के मेडिकल अस्पताल में मंगलवार रात 13 मरीजों की मौत हो गई। वहीं कर्नाटक के हुबली के अस्पताल में 5 कोरोना मरीजाें की मौत ऑक्सीजन की कमी से हुई है। आरोप है कि इन रोगियों की मृत्यु ऑक्सीजन की कमी से हुई। हालांकि अधिकारियों ने इससे इनकार किया है।

इन मामलाें की जांच के आदेश दिए गए हैं। तमिलनाडु के स्वास्थ्य सचिव ने कहा, “शुरुआती रिपोर्टों के मुताबिक, अस्पतालों में ऑक्सीजन का पर्याप्त भंडार है। कई ऐसे मरीज भी थे, जो ऑक्सीजन सप्लाई पर थे, लेकिन वे प्रभावित नहीं हुए। इनकी मौत के कारणों का पता जांच के बाद ही चलेगा।’

संक्रमित दिव्यांगों के लिए अलग अस्पताल की मांग पर केंद्र और दिल्ली सरकार को नोटिस

दिल्ली हाईकोर्ट ने काेराेना संक्रमित दिव्यांगाें के लिए अलग व्यवस्था किए जाने की मांग वाली याचिका पर केंद्र व दिल्ली सरकार को नोटिस जारी किया है। याचिका में कुछ सरकारी और निजी अस्पतालों को कोरोना संक्रमित दिव्यांग बच्चों और वयस्कों के लिए अलग से व्यवस्था करने की मांग की गई है। वहीं काेराेना से मरने वालाें के लिए स्थाई श्मशान घाट बनाने की मांग वाली याचिका पर भी केंद्र अाैर दिल्ली सरकार से काेर्ट ने जवाब मांगा है।

केंद्र ने गुजरात हाईकाेर्ट में कहा- सभी स्राेताें से ऑक्सीजन आपूर्ति की जा रही

केंद्र सरकार ने गुजरात हाईकाेर्ट में कहा कि काेराेना मरीजाें के लिए सरकार देश में सभी स्राेताें से ऑक्सीजन की आपूर्ति कर रही है। विदेश से भी ऑक्सीजन मंगा रहे है। केंद्र 22 राज्याें में 8,410 मीट्रिक टन ऑक्सीजन राेजाना आपूर्ति कर रही है।

ऑक्सीजन की कमी से माैताें की जवाबदेही तय हाे : प्रियंका गांधी

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने उत्तर प्रदेश में काेराेना मरीजाें की ऑक्सीजन की कमी से हुई माैताें काे लेकर जवाबदेही तय करने की मांग की है। उन्हाेंने कहा उत्तर प्रदेश सरकार ऑक्सीजन की कमी काे लेकर झूठ बाेल रही है। और इससे इनकार कर रही है, जबकि सच सबके सामने है। इससे पहले मंगलवार काे इलाहाबाद हाईकाेर्ट ने कहा था कि ऑक्सीजन की कमी से माैतें नरसंहार से कम नहीं है।

खबरें और भी हैं…

Source link

thenewhind
Author: thenewhind

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *