Sedition Case Registered Against PFI Commander Badruddin and Feroze In UP Lucknow | कट्टरपंथी संगठन PFI के कमांडर बदरुद्दीन व फिरोज पर देशद्रोह का केस दर्ज; NIA कोर्ट में रिमांड अर्जी दाखिल

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

लखनऊ18 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक
दोनों आरोपियों को मंगलवार शाम लखनऊ में कुकरैल बंधे के पास से गिरफ्तार किया गया था। इनके पास से विस्फोटक सामग्री भी बरामद हुई थी। - Dainik Bhaskar

दोनों आरोपियों को मंगलवार शाम लखनऊ में कुकरैल बंधे के पास से गिरफ्तार किया गया था। इनके पास से विस्फोटक सामग्री भी बरामद हुई थी।

  • पकड़े गए दोनों आरोपी केरल के रहने वाले हैं, कल ट्रेन से लखनऊ आए थे और दबोचे गए
  • उत्तर प्रदेश में अब तक PFI के 123 सदस्यों को पकड़ा जा चुका

लखनऊ में गिरफ्तार कट्टरपंथी संगठन पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया (PFI) के कमांडर केरल निवासी अंसद बदरुद्दीन और फिरोज खान को UP STF ने आज बुधवार को ATS को सौंप दिया है। ATS ने दोनों पर देशद्रोह का मामला दर्ज किया है। इससे पूर्व दोनों के खिलाफ लखनऊ STF थाने में भी FIR दर्ज की गई थी। ATS ने दोनों को NIA कोर्ट में पेश किया। सात दिन के लिए रिमांड अर्जी दाखिल की गई है। सूत्रों के मुताबिक मथुरा जेल में बंद कैंपस फ्रंट ऑफ इंडिया के राष्ट्रीय महासचिव रऊफ शरीफ की कस्टडी रिमांड लेने की तैयारी है। इन सभी आमने-सामने पूछताछ की जाएगी।

देश में गड़बड़ी फैलाने की थी साजिश
UP के ADG (कानून व्यवस्था) प्रशांत कुमार ने बताया कि PFI के जो 2 लोग पकड़े गए हैं, उनके पास से डॉक्युमेंट, एक्सप्लोसिव डिवाइस, डेटोनेटर, 1 पिस्तौल मिली है। उन्हें कोर्ट में पेश किया गया है। ये कुछ महत्वपूर्ण लोगों को निशाना बना रहे थे। इनका उद्देश्य देश में गड़बड़ी फैलाने की थी। हम लोगों ने पाया कि हाथरस मामले के दौरान भी PFI संगठन ने माहौल बिगाड़ने की कोशिश की थी। उसके बाद से हमने इनके 123 सदस्यों को पकड़ा है। अभी इनके कुछ सदस्य जेल में है और कुछ सदस्यों की निगरानी की जा रही है।

11 फरवरी से दबोचने का प्लान बना रही थी UP STF

PFI कमांडर अंसद बदरुद्दीन और फिरोज को UP STF ने मंगलवार की शाम राजधानी लखनऊ को कुकरैल बंधे के पास से गिरफ्तार किया था। दरअसल STF को कुछ दिनों से सूचना मिल रही थी कि PFI के लोग देश की सरकार के खिलाफ युद्ध छेड़ने के लिए UP के कई महत्वपूर्ण संवेदनशील स्थानों व हिन्दू संगठनों के बड़े पदाधिकारियों पर हमला करने की योजना बना रहे हैं और विशेष वर्ग के हष्ट पुष्ट सदस्य भी बना रहे थे। STF ने मुखबिरों को सक्रिय किया था। SFT को 11 फरवरी को सूचना मिली थी कि कुछ लोग ट्रेन से लखनऊ आएंगे। जिसके बाद आरोपियों को पकड़ा गया। बसंत पंचमी पर आम जनता में आतंक फैलाने और विद्वेष उत्पन्न करने की इनकी योजना थी

Source link

thenewhind
Author: thenewhind

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *