बीजेपी के डॉ सत्य प्रकाश मणि त्रिपाठी सपा से 10 हजार वोट से आगे

देवरिया सदर उपचुनाव में बीजेपी और सपा के बीच है मुकाबला

देवरिया सदर उपचुनाव में बीजेपी और सपा के बीच है मुकाबला

Deoria By-Election Live Update: देवरिया सदर विधानसभा सीट विधायक जन्मेजय सिंह का निधन हो जाने से रिक्त हुई है. इस बार यहां सभी प्रमुख पार्टियों, बीजेपी, सपा, बसपा और कांग्रेस ने ब्राह्मण प्रत्याशी उतारा है.

  • News18Hindi

  • Last Updated:
    November 10, 2020, 1:41 PM IST

देवरिया. उत्तर प्रदेश विधानसभा उपचुनाव (UP Assembly By Election) में देवरिया सदर सीट (Deoria Sadar Seat) पर मतगणना जारी है. 20वें दौर के बाद बीजेपी उम्मीदवार की बढ़त 10 हजार के पार चली गई है. बीजेपी प्रत्याशी को अब तक 38719 वोट मिले हैं, वहीं सपा प्रत्याशी को 28409 वोट मिले हैं. इससे पहले 14वें दौर के बाद बीजेपी प्रत्याशी डॉ सत्यप्रकाश मणि त्रिपाठी ने करीब 5500 वोटों से बढ़त बनाई हुई थी. दूसरे नंबर पर सपा प्रत्याशी डॉ सत्यप्रकाश मणि त्रिपाठी को 23992 वोट मिले. सपा प्रत्याशी ब्रह्माशंकर त्रिपाठी को 18423 वोट मिले.

देवरिया सदर विधानसभा सीट विधायक जन्मेजय सिंह का निधन हो जाने से रिक्त हुई है. बता दें देवरिया उपचुनाव में इस बार सभी प्रमुख पार्टियों ने त्रिपाठी प्रत्याशी पर ही किस्मत आजमाई है. देवरिया सदर सीट बीजेपी प्रत्याशी  डॉ सत्यप्रकाश मणि त्रिपाठी बैतालपुर के उद्योपुर गांव के मूल निवासी है. लंबे समय से बीजेपी में हैं और उनके परिवार में कई शिक्षाविद् हैं. जिला पंचायत सदस्य के रूप में कार्य करने का अवसर इन्हें मिल चुका है. वहीं समाजवादी पार्टी से उम्मीदवार ब्रह्माशंकर त्रिपाठी 5 बार कसया और कुशीनगर से विधायक रह चुके हैं. 2 बार कैबिनेट मंत्री रहे.

ये भी पढ़ें: Bulandshahr By-Election Live Update: बीजेपी की उषा सिरोही को मजबूत बढ़त

बसपा से अभयनाथ त्रिपाठी प्रत्याशी हैं. 2017 के विधानसभा चुनाव में वह बसपा से मैदान में थे लेकिन जीत हासिल नहीं कर सके. वह पेश से सिविल कोर्ट में अधिवक्ता भी हैं. वहीं कांग्रेस के मुकुंद भास्कर मणि त्रिपाठी पुराने कांग्रेसी नेता हैं.29 साल बाद कोई ब्राह्मण जीतेगा

देवरिया सदर सीट ब्राह्मण बाहुल्य मानी जाती है. इस सीट पर 29 साल बाद कोई ब्राह्मण उम्मीदवार चुनाव जीत दर्ज करेगा. इस सदर सीट से 1989 में ब्राम्हण उम्मीदवार राम छबीला मिश्रा जनता दल से चुनाव जीते थे. जिसके बाद से अभी तक कोई भी ब्राह्मण प्रत्याशी इस सीट से चुनाव नहीं जीता है.

ये भी पढ़ें: UP By-Poll Results 2020 Live: 7 में से 6 सीट पर बीजेपी तो एक पर निर्दलीय आगे, सपा पिछड़ी

ये हैं मुद्दे

देवरिया सदर सीट पर बिजली, सड़क, पानी और जलजमाव की समस्या छाए रहे. इसके अलावा चीनी मिल लगाना एक बड़ा मुद्दा बना रहा. बेरोजगारी और पलायन एक बड़ी समस्या सामने आई है. देवरिया सदर सीट पर उत्तर प्रदेश सरकार के एक दर्जन से अधिक कैबिनेट मंत्री, मुख्यमंत्री, दोंनो डिप्टी सीएम ने प्रचार किया. इसके अलावा बीजेपी के एक दर्जन से अधिक विधायक और सांसद लगे रहे. वहीं  बहुजन समाज पार्टी से सतीश चंद्र मिश्रा के अलावा कई बसपा के नेताओं ने जनसभाएं की. समाजवादी पार्टी से पूर्व विधानसभा अध्यक्ष माता प्रसाद पांडेय, सपा के कई पूर्व मंत्री और आसपास के समाजवादी पार्टी के नेताओं ने जनसभाएं की.

Source link

thenewhind
Author: thenewhind

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *